हिन्दी दिवस 2017

हिन्दी दिवस के उपलक्ष्य में महाविद्यालय में कार्यक्रम हुआ, जिसमें छात्राओं को हिन्दी के प्रति सम्मान की शिक्षा दी गयी। साथ ही आशुभाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें प्रथम वैशाली सिंह, द्वितीय सिमरन कालरा तथा तृतीय मृदुला सिंह रही।

 Grammy Award Winner Pt. Vishwa Mohan Bhatt’s Performance !!

Aklank Girls PG College under the aegis of Aklank Vidhyalaya Association witnessed a breadth taking performance by the World Renowned Creator of the Mohan Veena, Pt. Vishwa Mohan Bhatt on 17th Aug 2017.
The audience got mesmerized by his pristine music and expertise in his instrument. Pt. Bhatt enthralled the receptive audience with his marvellous solo. Later on , Sri Abhishek Mishra, accompanying on Tabla , joined in Jugalbands . Padma Bhushan Rajasthan Ratna, Grammy Award Winner Pt. Vishwa Mohan Bhatt is an International Artist whose performance was filled with such spiritual and divine enrichment that the ragas of his Mohan Veena will always be reverberating in hearts of audience. GReat Thanks to SPIC – MACAY for organizing such a beautiful performance at our college.

CANVAS – CREATIVITY BY GIRLS (DRAWING EXHIBITION 2017)

‘जी. फ्लेयर का शुभारम्भ’ (Home Science Exhibition 2017)

अकलंक महाविद्यालय में गृह विज्ञान विभाग की ओर से तीन दिवसीय प्रदर्शनी ‘जी. फ्लेयर’ का शुभारम्भ डाॅ. मंजुला त्यागी, प्राचार्य जे.डी.बी. काॅलेज, डाॅ. रीना खनूजा विभागाध्यक्ष गृहविज्ञान विभाग, जे.डी.बी. काॅलेज, डाॅ. दीपा स्वामी, व्याख्याता जे.डी.बी. काॅलेज, महाविद्यालय प्राचार्य डाॅ. एच.सी. जैन, अकलंक विद्यालय एसोसिएशन के सचिव श्री अविनाश जैन के द्वारा फीता काटकर किया गया।

महाविद्यालय परम्परा के अनुसार कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्ज्वलन व सरस्वती वंदना से की गई। प्राचार्य डाॅ. हुकम चन्द जैन व विभागाध्यक्ष डाॅ. दिव्या दुबे ने अतिथियों का स्वागत किया। प्रदर्शनी में गृह विज्ञान विभाग की 90 से अधिक छात्राओं के सृजनात्मक कौशल का प्रदर्शन किया गया, इसमें पारम्परिक कसीदाकारी, पारम्परिक वेशभूषा, गृह सज्जा से जुडें सामान जैसे माॅडना, फ्लावर पाॅट, वाॅल पैनल, बंधनवार, ब्लाँक प्रिंटिग, टाई एवं डाई, आॅडियो विजुअल ऐडस, हाउस प्लान माॅडल का बेहद खूबसूरती से अनूठा प्रदर्शन किया गया है।

डाॅ. मंजुला त्यागी ने छात्राओं को होनहार प्रतिभा बताते हुए कहा कि वे छात्राओं की कला देखकर अभिभूत, साथ ही महाविद्यालय के व्याख्याताओं को कला मर्मज्ञ की संज्ञा दी। डा. रीना खनूजा ने कहा कि छात्राओं के काम की जितनी प्रशंसा की जाये कम है। डाॅ. दीपा स्वामी ने बताया कि प्रदर्शनी में बहुत सी नई चीजंे हैं, जो की खूबसूरती से प्रदर्शित की गई हैं। प्राचार्य डाॅ. हुकम चन्द जैन ने कहा कि मानो कला का वैभव खुल गया साथ ही छात्राओं को कहा कि उन्हें हमेशा चुनौतियों को स्वीकार करना चाहिए, इसमें नई राहें खुलती हैं।

प्रर्दशनी तीन दिन 24 जनवरी से 26 जनवरी तक चलेगी। कार्यक्रम का संचालन विभागाध्यक्ष डाॅ. दिव्या दुबे ने किया व अन्त में समस्त अतिथियों का आभार प्रकट किया।

फेयरवेल एक्सट्रावेगेंजा

अकलंक कन्या महाविद्यालय में अन्तिम वर्ष की छात्राओं के विदाई समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ संस्था के सचिव श्री अविनाश जैन द्वारा माँ सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन के साथ किया गया। प्राचार्य डाॅ. एच.सी. जैन ने शब्द गुच्छ द्वारा अतिथियों का अभिनंदन किया। जूनियर वर्ग की छात्राओं ने राजस्थानी, पंजाबी एवं गुजराती नृत्यों की रंगारंग प्रस्तुतियों के साथ माहौल को सांस्कृतिक बना दिया। वहीं अंतिम वर्ष की छात्राओं ने विदाई नृत्य की प्रस्तुति के साथ सभी को भाव विभोर कर दिया। छात्राओं ने पावर प्रजेंटेशन द्वारा अपने अनुभवों एवं महाविद्यालय मे बिताऐ हुए सुखद क्षणों को अभिव्यक्ति दी। कार्यक्रम में पधारे अतिथियों द्वारा शैक्षणिक एवं सांस्कृतिक गतिविधियों के लिए विजेता छात्राओं को पुरस्कृत किया गया। निर्णायक मंडल में कुतुर इंस्टीट्यूट की संचालिका सुश्री पूजा राजवंशी, समाजसेविका शुभा गुप्ता एवं अकलंक बी.एड. काॅलेज की प्राचार्य डाॅ. आशा शर्मा रही। निर्णायक मंडल द्वारा मिस फेयरवेल 2017 चुनी गई। गत वर्ष की मिस फेयरवेल ऐश्वर्या जैन ने इस वर्ष मिस फेयरवेल चुनी गई विनी अग्रवाल को ताज पहनाया। कार्यक्रम के अन्त मे छात्रसंघ की संयुक्त सचिव दीक्षा त्रिवेदी ने सभी आगन्तुकों का आभार व्यक्त किया।

Interactive Session on “Legal Issues Related To Women”

महिलाएँ विधिक अधिकारों एवं कर्त्तव्यों में सामंजस्य स्थापित रखें : ऐडवोकेट कल्पना शर्मा अकलंक गर्ल्स महाविद्यालय में गृह विज्ञान विभाग व महिला प्रकोष्ठ के तत्वावधान में महिलाओं से जुडे़ संवैधानिक एवम कानूनी मुद्दों पर चर्चा की गई। कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्ज्वलन एवं प्राचार्य डॉ. हुकम चन्द जैन द्वारा स्वागत उद्बोधन से हुआ। कार्यक्रम की प्रखर वक्ता कल्पना शर्मा थी, जिनका परिचय डॉ. दिव्या दुबे ने दिया। ऐडवोकेट कल्पना शर्मा ने साधारण शब्दों में छात्राओं को संवैधानिक एवं विधिक अधिकारों के बारे में समझाया। आपने बताया कि हम सभी को आर्थिक सुद्दढ़ता के साथ पारिवारिक सामंजस्य बना कर रखना चाहिए तथा भावनात्मक रुप से मजबूत बनी रहें। आपने घरेलू हिंसा अधिनियम 2005 पैतृक सम्पत्ति अधिकारी व लिव इन रिलेशनशीप अधिकार के बारे में समझाया। छात्राओं को उनके अधिकारों कर्त्तव्यों आदि के बारे में जानकारी दी। पर यह भी बताया कि इन अधिनियमों का दुरुपयोग न हो। कार्यक्रम का संचालन एवं धन्यवाद महिला प्रकोष्ठ प्रभारी डॉ. संगीता माथुर ने किया।